Tuesday, August 26, 2014

Gastric problem

जो साधक इस देह में चलने वाली वायु की दिशा को परिवर्तित कर सकता है, समझो उस हठ योगी का मन पर अधिकार हो गया है.