Sunday, September 7, 2014

स्मृति

स्मृति में संसय नाम का तत्त्व जब घर कर जाय तो उसे ही भूत कहते हैं. उसका परमात्मा से भला क्या लेना देना . 

भूत

भूत है, किन्तु जँहा भगवान् है वंहा भूत नहीं. कहीं इसका अर्थ यह तो नहीं है कि भगवान हर जगह पर नहीं है !

Yoga Guru yogi Anoop 
Delhi